तेघड़ा में भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी का एक दिवसीय प्रखंड मुख्यालय पर धरना

0
320

भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी का एक दिवसीय प्रखंड मुख्यालय पर धरना

तेघड़ा/बेगुसराय(अनंत कुमार):- गरीबों की लड़ाई लड़ने वाली एवं गरीबी को अभी श्राप नहीं वरदान में बदलने के लिए हर समय तत्पर रहने वाली भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी जो ,अपने आप को स्थापना के समय से ही दबे कुचले और पिछड़ों की लड़ाई लड़ने वाली पार्टी है। आज तेघड़ा प्रखंड मुख्यालय पर एक दिवसीय धरना का आयोजन किया। इस आयोजन में पार्टी के कई नेता एवं कार्यकर्ता शामिल हुए कार्यक्रम में पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह, प्रदीप राय, सिकंदर सिंह ,चंद्र भूषण सिंह, जुलुम सिंह, कन्हैया कुमार सहित सैकड़ों नेता व कार्यकर्ता शामिल हुए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह ,ने कहा कि आज हम लोग मुख्य रूप से 9 सूत्रीय मांग को लेकर प्रखंड मुख्यालय पर धरना पर बैठे हैं। हम लोगों का मूल मांग है कि, जितने भी राज्य में किसान मजदूर विरोधी अध्यादेश आए हैं उस सब को वापस लिया जाए। कोरोना काल में लॉकडाउन से पीड़ित जनता को 7500₹ एवं 10 किलो गल्ला 6 महीना तक मुहैया करवाया जाए, प्रत्येक मजदूर को मनरेगा के अंतर्गत 200 दिन काम दिया जाए एवं ₹600 प्रतिदिन मजदूरी देने की गारंटी ली जाए।

रोजगार से वंचित लोगों को रोजगार देने की गारंटी ली जाए। पेट्रोल-डीजल सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की बढ़ती कीमत को कम किया जाए। खाद्य सुरक्षा अधिनियम को सख्ती से लागू किया जाए, एवं भ्रष्टाचार पर रोक लगाया जाए। किसान आयोग की सिफारिश के आधार पर किसानों की पैदावार का सामर्थ्य मूल लागू किया जाए। सम्मान एवं मुफ्त शिक्षा प्रणाली को लागू किया जाए तथा केरल जैसे राज्यों के आधार पर सर्वव्यापी स्वास्थ्य सेवा कोरोना महामारी से निपटने हेतु उपाय बनाया जाए।

उपर्युक्त सभी मुद्दों को लेकर आज हम लोग धरना पर बैठे हुए हैं और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी हमेशा से आम जन की पार्टी है। संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि आज खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत व्यापक पैमाने पर डीलरों के द्वारा ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। कहीं कम तोला जा रहा है ,कहीं पर 1 किलो दाल दिया जाता है तो कहीं पर 2 किलो दाल दिया जाता है। यह भी एक प्रकार का गरीब विरोधी नीति ही है इसके ऊपर भी जांच की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here