बिहार विधानसभा चुनाव: चुनाव नजदीक आते ही प्रत्याशियों की होड़

0
496

बिहार विधानसभा चुनाव: चुनाव नजदीक आते ही प्रत्याशियों की होड़

तेघड़ा/बेगुसराय(अनंत कुमार):- बिहार विधानसभा चुनाव आहिस्ता आहिस्ता नजदीक आ रहा है ,और इसी क्रम में विधायकों की दावेदारी भी अपने-अपने क्षेत्र में बढ़ती जा रही है। प्रत्येक चौक -चौराहे पर चुनाव को लेकर विभिन्न प्रकार के दावे पेश किए जा रहे हैं। हर बार की भांति चाय का दुकान और पान का चौपाल ,चुनाव के समय मशहूर हो जाता है।

आज हम तेघड़ा विधानसभा के ऐसे ही सभी पार्टी के उम्मीदवारों की चर्चा करेंगे। जिसमें बात करें तो वर्तमान में तेघड़ा विधान सभा सीट राजद के पास है। वर्तमान राजद के विधायक ,वीरेंद्र महतो है। वही 2020 में राजद के टिकट के लिए राजद के जिला अध्यक्ष मोहित यादव, वर्तमान विधायक वीरेंद्र महतो दोनों का दावेदारी प्रबल है। हालांकि पूर्व मुखिया संघ के अध्यक्ष हेमंत कुमार भी राजद के शीर्ष नेतृत्व के संपर्क में है।

वहीं हम एनडीए गठबंधन की बात करें तो कई नामचीन चेहरे हैं। जिसमें सबसे पहला नाम राम लखन सिंह का आता है ,हालांकि पार्टी ने कई बार इनको आजमा चुकी है, लेकिन आज तक सत्ता कभी इनके हाथ में नहीं आई,दूसरा नाम केशव शांडिल्य का आता है। इनके पिता प्रोफेसर थे और अटल बिहारी वाजपेई के काफी करीबी माने जाते थे ।तीसरा नाम झारखंड सरकार के रिटायर डिएसपी सुनील कुँवर आता है। ये भी रिटायर होने के बाद राजनीति में काफी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

अगला नाम इन्हीं के भाई और तेघड़ा के पूर्व विधायक ललन कुंवर का नाम आता है ।अगला नाम किसान नेता से मशहूर कृष्ण नंदन सिंह का आता है ।हालांकि करोना काल से अपने आपको एनडीए में प्रबल नेता के रूप में सुनील कुमार भी दावेदारी पेश कर रहे हैं ।वही हम बात करें महागठबंधन की तो महागठबंधन के 2015 के उम्मीदवार राम रतन सिंह थे। हालांकि उस समय कुछ पाटिया महागठबंधन से अलग थी।

यदि 2020 की बात करें तो महागठबंधन से हेमंत कुमार का नाम आ रहा है पूर्व मुखिया अशोक सिंह का नाम आ रहा है। दबी जुबान में कई बार के विधायक रहे राजेंद्र प्रसाद सिंह के नाम की भी चर्चा है ,और राम रतन सिंह जी कहां चूकने वाले है। मुख्य रूप से इस त्रिकोणीय श्रृंखला में तेघड़ा विधानसभा का ग्राफ आ रहा है। हालांकि इसके अतिरिक्त और भी कई पार्टियां हैं, जिनके उम्मीदवार मैदान में उतरेंगे। हालांकि अभी और समय बाकी है,

चुनाव और नजदीक होगा चुनावी जुमले के साथ कुछ निर्दलीय नेता भी सामने आएंगे, आखिर देखना है कि त्रिकोणीय श्रृंखला में कौन सी पार्टी किसको टिकट देती है ,और क्या एक लंबी पारी खेलने वाली महागठबंधन पार्टी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी विधानसभा की थी।

वो सफल हो पाएगी या फिर 5 वर्षों के लिए ही सही लेकिन एनडीए गठबंधन का शासन तेघडा विधानसभा में देखने को मिला था, वह होगा या फिर महागठबंधन जिसके वर्तमान विधायक वीरेंद्र महतो है। वो सदन पहुंचेंगे हालांकि राजनीतिक गलियारे से अभी बहुत कुछ आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here