बेगूसराय/तेघड़ा: नगर पंचायत में जल जमाव से स्तिथि नरकीय , अधिकारी बेखबर

0
243

बेगूसराय/तेघड़ा: नगर पंचायत होते भी स्तिथि गंभीर,अधिकारी बेखबर

तेघड़ा/बेगुसराय:- तेघड़ा नगर पंचायत की स्तिथि विगत डेढ़ माह से नारकीय बनी हुई है। सुशासन बाबू के सात निश्चय में से एक निश्चय हर घर नल का जल योजना के कारण यह नारकीय स्थिति हुई है।

बिना जल के निकासी के समुचित उपाय के नल जल योजना के कारण पूरे गांव की ये नारकीय स्थिति। ज्ञात हो कि वार्ड नं0 – 07 के गाँव मियांजी टोला में जल निकासी के लिए कोई नाला नहीं है। जिसके कारण बिना बारिश के भी महीनों से इस गाँव में लगातार जल-जमाव की स्थिति बनी हुई है। गाँव के लोग इस कोरोना काल में गंदगी एवं जल जमाव को लेकर डेंगू, मलेरिया जैसी महामारी से भी भयभीत हैं।

वार्ड नं0 – 07 से तेघड़ा नगर पंचायत के मुख्य पार्षद के पति मो0 महबूब आलम उर्फ कारी मुखिया निर्वाचित हैं। मुख्य पार्षद के पति के वार्ड पार्षद रहते हुए भी इस वार्ड की यह नारकीय स्थिति बनी हुई है।अपने आप में बहुत सारे प्रश्न खड़ा कर रही है।

जब मुख्य पार्षद के पति वार्ड के वार्ड पार्षद हो और वार्ड की स्थिति नारकीय बानी हो तो, भला अन्य वार्ड की क्या स्थिति होगी, और इसी तेघड़ा नगर पंचायत में दो वार्ड ऐसे हैं, जो गंगा की चपेट में आते हैं ।वहां का हाल और बद से बदतर है । हालांकि यदि जल निकासी की बात करें तो तेघड़ा नगर पंचायत पिछले कई वर्षों से विवाद में है ,क्योंकि शहर के कुछ प्रमुख स्थानों से जल निकासी का नाला बनाया गया और वह नाला राष्ट्रीय राजमार्ग 28 के पास आकर गिरती है । जहां उसके आसपास रहने वाले लोगों का जीना दुश्वार हो गया है । वह लोग हर हमेशा भिन्न- भिन्न प्रकार की बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। लेकिन इस पर कोई भी बरिय पदाधिकारी कुछ प्रतिक्रिया देने से बस से नजर आ रहे हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 चुनाव प्रचार के लिए संपर्क करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here