लाशों के ढ़ेर पर हम विधानसभा चुनाव नहीं होने देंगे, तेजस्वी यादव

0
235

पटना:- बिहार में करो ना अपना कहर बरपा रहा है राज में करोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि से स्थिति बेकाबू होती जा रही है। वहीं दूसरी तरफ राज्य के लोग बाढ़ से त्रस्त हैं। ऐसे में सरकार के सामने दोहरी चुनौती है एक तरफ कोरोनावायरस तो दूसरी तरफ बाढ़।
और इसी दरमियान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कार्यकाल भी पूरा होने वाला है इसको लेकर सत्ताधारी पार्टी बिहार में विधानसभा चुनाव को समय पर करवाने की मांग कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष राज के इस संकटकालीन परिस्थिति को देखते हुए विधानसभा चुनाव के समय को बढ़ाने की मांग कर रही है।
बिहार में अक्टूबर नवंबर के महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। और इस चुनाव को लेकर राज में राजनीति भी जोरों से चल रही हैएक तरफ सत्ताधारी पार्टी के नेता राज्य में समय पर चुनाव करवाने की मांग कर रही है तो दूसरी तरफ विपक्ष के नेता बिहार में विधानसभा चुनाव के पक्ष में नहीं है। सत्ताधारी पार्टी के (JDU) सांसद सा प्रवक्ता ने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि राज्य में चुनाव समय पर हो।

वहीं विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने प्रेसवार्ता मधुबनी में प्रेस वार्ता में कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता राज्य के लोगों का जान बचाना है। क्योंकि जान है तो जहान है, उन्होंने आगे कहा है कि इस हाल में हम राज्य में विधानसभा चुनाव नहीं होने देंगे क्योंकि लोकतंत्र में लोक नहीं रहेगा तो तंत्र का कोई मतलब नहीं रह जाएग। एक तरफ लोग करो से तो दूसरी तरफ बाढ़ से त्रस्त है ऐसे में अगर आज मैं चुनाव होता है तो बिहार के जानता के लिए सही नहीं होगा । हम चुनाव आयोग से निवेदन करते हैं कि इस पर पुनः एक बार फिर से विचार करें।

जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो राजीव रंजन ( पप्पू यादव ) ने भी कहा कि राज्य की स्थिति अभी चुनाव के लिए सही नहीं है ऐसे नाजुक और संकट के समय में मुख्यमंत्री जी को राज्य के जनता के बारे में सोचना चाहिए ना कि अपनी सरकार और कुर्सी के बारे में। उन्होंने आगे कहा है कि बिहार की जनता बाढ़ और करोना से त्रस्त है और सरकार को चुनाव की पड़ी है।
वहीं सरकार में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी कहां कि राज्य की स्थिति अभी चुनाव को लेकर सही नहीं है। राज्य की स्थिति अभी बहुत ही नाजुक है ऐसे में विधानसभा चुनाव करवाना राज्य के जनता के लिए सही नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here