बिहार में बाढ़ से बिगड़ते हालात को देखते हुए NDRF की 19 टीमें तैनात

0
196

पटना:- बिहार के उत्तरी और पूर्वोत्तर में भारी बारिश, और बाढ से राज्य में लाखों लोग प्रभावित है एक अनुमान के मुताबिक राज्य में अब तक 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। और चार लाख से ज्यादा लोग बेघर हो चुके हैं।
राज्य में मंगलवार को बारिश के दौरान ठनका गिरने से 17 लोगों की जान चली गई मरने वालों में बिहार शरीफ के 4, बांका के 6, जमुई के 3, बोधगया के 2, और लखीसराय व नवादा के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। वही लगातार हो रही रिकॉर्ड तो और बारिश के वजह से उत्तर बिहार के कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है जिसके कारण इन क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वज्रपात से मरने वालेलोगों के प्रति शोक व्यक्त करते हुए मृतक के परिजनों को अविलंब 4-4 लाख रुपए का अनुग्रह राशि देने का निर्देश दिया है साथ ही उन्होंने कहा है कि हम आपदा की इस घड़ी में पीड़ित परिवारों के साथ हैं। आगे सुबे के मुख्यमंत्री ने उत्तर बिहार में बाढ़ के हालात को देखते हुए प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ की टीम को भी तैनात कर दिया है साथ ही प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि वह प्रीत लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की व्यवस्था करें।

बता दें कि नेपाल में भारी वर्षा के कारण वाल्मीकिनगर में गंडक बराज से रिकॉर्ड 4.20 लाख घनसेक और वीरपुर में कोसी बराज से 3.20 लाख घनसेक पानी छोड़ा गया है। इससे उत्तर और पूर्वी बिहार के गंडक और कोसी प्रभावित क्षेत्रों के निचले इलाके में बाढ़ की स्थिति गंभीर होती जा रही है। आपदा प्रबंधन विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि गंगा को छोड़ कई नदियां खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। बाढ़ के पानी ने 8 जिलों के करीब चार लाख लोगों को प्रभावित किया है। आपदा मोचन बल की सर्वाधिक 19 टीमें बिहार में तैनात की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here