फिर से शुरू हो सकता है टिक टॉक, टिक टॉक इंडिया के हेड ने किया ट्वीट

0
150

नई दिल्ली:- भारत सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए 29 जून को टिक टॉक, यूसी ब्राउजर, कैमस्कैनर, सहित 59 चीनी ऐप को भारत में प्रतिबंध लगा दिया है। जिसमें सबसे लोकप्रिय ऐप टिक टॉक को लेकर बड़ा सवाल उठ रहा है कि क्या टिक टॉक भारत में फिर से चलेगा। वहीं वही जबसे टिक टॉक पर बैन लगा है। तब से भारतीय ऐप चिंगारी को लोगों ने ढेर सारा प्यार दिया है और 1 दिन में 30 लाख से ज्यादा लोग इस ऐप को डाउनलोड किया है।

चीनी ऐप पर बैन लगने के बाद टिक टॉक कंपनी के तरफ से टिक टॉक इंडिया का हेड निखिल गांधी ने ट्वीट करके सफाई दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि भारत सरकार ने 59 ऐप को भारत में प्रतिबंध कर दिया है इस 59 ऐप की सूची में टिक टॉक का भी नाम शामिल है। मैं सरकार के फैसले का पालन करूंगा। उन्होंने आगे बताया
की सरकार ने उन्हें इस बारे में स्पष्टीकरण के लिए बुलाया है। आगे उन्होंने कहा कि मेरी कंपनी अपने यूजर्स के सिक्योरिटी और प्राइवेसी को लेकर प्रतिबद्ध रहा है और है। मैं भारत सरकार से मांग करूंगा की टिक टॉक को फिर से इंडिया में चलाया जाए।

आपको बता दें कि भारत में सबसे ज्यादा पॉपुलर शॉर्ट वीडियो ऐप में टिक टॉक था दुनिया में सबसे ज्यादा यूजेस भारत में ही टिक टॉक का था। लेकिन भारत सरकार ने अपनी सुरक्षा को लेकर एक फैसला लिया जिसमें उन्होंने बताया की टिक टॉक, यूसी ब्राउजर, समेत अन्य जितने भी चीनी ऐप भारत में चल रही है उससे भारतीय सुरक्षा के लिए खतरा हो सकता है। इसीलिए ये एप्स भारत में अब नहीं चलेंगे।

वहीं जब से भारत में चाइनीस ऐप पर प्रतिबंध लगा है उसके बाद से जो भी लोग शॉर्ट वीडियो वाली ऐप यूज करते थे वह आप भारतीय शॉर्ट वीडियो ऐप चिंगारी को यूज कर रहा है। बताया जा रहा है कि जब से टिक टॉक प्ले स्टोर पर से हटा है उसके बाद से चिंगारी प्ले स्टोर का नंबर वन ऐप बन गया है और लोगों के बीच कम समय में काफी लोकप्रिय भी हो रहा है। इस ऐप को बेंगलूर स्थित प्रोग्रामर विश्वात्मा नायक और सिद्धार्थ गौतम ने पिछले साल ही बनाया था। उनका कहना था की भारतीयों को इस समय देसी और टिक-टोंक की तरह ही एक प्लेटफार्म की जरूरत थी इसीलिए हम उनके अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास कर रहे हैं। और लोग मुझे अपना भरपूर प्यार दे रहे हैं।

अगर बात चिंगारी ऐप की करें तो चिंगारी यूजर्स को वीडियो डाउनलोड करने और अपलोड करने, दोस्तों के साथ चैट करने, नए लोगों के साथ बातचीत करने, सामग्री साझा करने और फिड के माध्यम से ब्राउज़ करने की अनुमति देता है। यह एप्लीकेशन अंग्रेजी, हिंदी, बंगला, गुजराती, मराठी, कन्नड़, पंजाबी, मलयालम, तमिल और तेलुगू भाषा में उपलब्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here